Breaking Newsअन्यअपराधटॉप खबरनवादापटनाबिहारराजनीतिराज्य

बिहार:BJP MLA अनिल सिंह को कोटा से बेटी को लाने के लिए पास देने वाले SDO सस्पेंड,एमएलए पर भी एक्शन होगी

  • एमएलए के खिलाफ होगी कार्रवाई
  • बिहार ने बढ़ाया राजस्थान पर दबाव
  • कोटा छात्रों को वापस लाने का सीएम नीतीश ने किया था विरोध

पटना।गवर्नमेंट ने लॉकडाउन में बीजेपी एमएलए अनिल सिंह की बेटी को कोटा से लाने के मामले में कार्रवाई शुरू कर दी है। एमएलए को अपनी बेटी को कोटा से लाने के लिए गाड़ी का पास जारी करने वाले नवादा सदर के एसडीएम अनु कुमार को सस्पेंड कर दिया गया है। अब एमएलए पर भी कार्रवाई की तैयारी है।
यह भी पढ़ें:बिहार:लॉकडाउन में पटना में ऑनलाइन शादी, पंडित ने मोबाइल पर मंत्रोचारण किया,फोन से रिश्तेदारों आशीर्वाद दिया
एमएलए अनिल सिंह को अपने बच्चों को कोटा से लाने की परमिशन सदर एसडीओ अनु कुमार ने ही दी थी। सदर एसडीओ की परमिशन लेटर में लिखा था कि एमएलए अनिल सिंह के वाहन परिचालन की अनुमति लोगों के जानमाल की रक्षा के लिए दी जाती है। इस शर्त के साथ आदेश दिया जाता है कि कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए जिला प्रशासन नवादा के द्वारा जारी निर्देश का अक्षरशः अनुपालन करेंगे। इसके साथ ही सभी व्यक्ति को मास्क लगाना अति आवश्यक है।
कोटा छात्रों को वापस लाने का सीएम नीतीश ने किया था विरोध
उल्लेखनीय है कि कोटा में फंसे बिहारी छात्रों को वापस बिहार लाने का सीएम नीतीश कुमार ने यह कहकर विरोध किया था कि इससे लॉकडाउन का उद्देश्य सफल नहीं होगा। यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ द्वारा कोटा से स्टेट से छात्रों को बुलाये जाने पर भी नीतीश ने आपत्ति जतायी थी।हिसुआ के बीजेपी एमएलए अनिल सिंह अपनी बेटी को कोटा से लेकर बिहार आ गये हैं।विपक्ष इसे मुद्दा बनाकर सीएम नीतीश कुमार के खिलाफ होम बोल रहा है।सरकार पर दोहरी नीति अपनाने का आरोप लगाया गया है।गवर्नमेंट ने अब मामले में एक्शन शुरु कर दी है।
यह भी पढ़ें:झारखंड:पांच और कोरोना पेसेंट स्वस्थ,दो दिनों नौ संक्रमित ठीक हुए,रेल स्टाफ की वाइफ नेगेटिव
बिहार ने बढ़ाया राजस्थान पर दबाव
स्टेट गवर्नमेंट ने राजस्थान के कोटा में फंसे बिहारी छात्रों व कामगारों को वहीं सुविधाएं देने का प्रेसर गहलोत सरकार पर बढ़ाया है।बिहार विधानसभा के अध्यक्ष विजय चौधरी ने मंगलवार को लोकसभा अध्यक्ष ओम बिड़ला से बात की है। श्री चौधरी ने कहा कि कोटा एवं राजस्थान के अन्य शहरों में फंसे बिहार के हजारों छात्रों एवं कामगारों के रहने-खाने की व्यवस्था करनी चाहिए। ओम बिड़ला आज वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए कोरोना से बचाव के लिए बिहार की तैयारियों की जानकारी ले रहे थे।
एमएलए के खिलाफ होगी कार्रवाई
बिहार के संसदीय कार्य मंत्री श्रवण कुमार ने कहा है कि लॉकडाउन का उल्लंघन करने वाला कोई भी हो, उसके खिलाफ कार्रवाई की जायेगी। उन्होंने कहा कि एमएलए अनिल सिंह पर भी बीजेपी कार्रवाई करेगी।
MLA को पास जारी करने वाले एसडीएम सस्पेंड
बिहार के चीफ सेकरेटरी दीपक कुमार ने फिर कहा है कि कोटा में फंसे बिहार के छात्रों को वर्तमान हालात में वापस बुलाना ठीक नहीं है। इस बाबत सीएम भी स्थिति स्पाष्ट कर चुके हैं। एमएलए को पास जारी करने वाले सदर एसडीएम अनु कुमार को सस्पेंड कर दिया गया है। नवादा डीएम यशपाल मीणा की अनुशंसा पर सामान्य प्रशासन विभाग ने एसडीएम को निलंबित किया है।
एमएलए के ड्राइवर को शोकॉज
लॉकडाउन के दौरान बीजेपी एमएलए अनिल सिंह द्वारा विधानसभा सचिवालय से आवंटित गाड़ी को बेटी को लाने के लिए कोटा ले जाने के मामले पर बिहार विधानसभा अध्यक्ष विजय कुमार चौधरी ने कड़ा रुख अख्तियार किया है। विधानसभा सचिवालय ने एमएलए के वाहन चालक शिवमंगल चौधरी से 24 घंटे के भीतर शो कॉज मांगा है। साथ ही यह भी स्पष्ट किया गया है कि इस मामले में दोषी पाये जाने वाले सभी संबंधित लोगों पर सख्त कार्रवाई करने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है।
अनिल सिंह को सत्तारूढ़ दल के सचेतक के रूप में आवंटित है गाड़ी
एमएलए जिस गाड़ी गाड़ी (बीआर 1 पीजे 0484) से कोटा गये थे वह उन्हें सत्तारूढ़ दल बीजेपी के सचेतक के रूप में आवंटित है। इसे वह निजी कार्य के लिए राज्य से बाहर लेकर नहीं जा सकते हैं। आरोप है कि एमएलए बिना किसी पूर्व सूचना के इसे निजी कार्य से बिहार से बाहर राजस्थान के कोटा ले गये थे।
यह भी पढ़ें:धनबाद:कोरोना के खिलाफ गाना से लोगों को जागरुक कर रहें हैं पुलिस इंस्पेक्टर नवीन राय

विधानसभा सचिवालय को नहीं दी कोटा जाने की सूचना

विधानसभा सचिवालय की ओर से कहा गया है कि वाहन चालक को स्पष्ट निर्देश दिया गया है कि किसी भी हाल में बिना विधानसभा सचिवालय की अनुमति के विभागीय वाहन को राज्य से बाहर नहीं ले जाना है। जिस एमएलए को यह गाड़ी आवंटित है, यदि वह ऐसा करते हैं तो इसकी सूचना उन्हें तुरंत विधानसभा सचिवालय को देनी होगी। किंतु ऐसी कोई सूचना सचिवालय को नहीं दी गई, जिसे नियम के विरुद्ध मानकर कार्रवाई की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है।

आपदा के दौरान एमएलए की जिम्मेदारी बड़ी: स्पीकर

विधानसभा अध्यक्ष विजय कुमार चौधरी ने कहा कि संकट की इस घड़ी में जनप्रतिनिधियों की भूमिका बड़ी हो जाती है। लॉकडाउन के दौरान उन्हें अंतिम पायदान पर खड़े लोगों का ध्यान रखना चाहिए और उन तक स्वास्थ्य सेवाएं पहुंचाने एवं जागरूक करने का प्रयास करना चाहिए।

यह भी पढ़ें:मुंबई:लता हया और अनिल रामचंद्र शर्मा की शॉट फिल्म जमिस्तां youtube मचा रहा है धूम

तेजस्वी ने सरकार से पूछे सात सवाल

लॉकडाउन में बीजेपी एमएलए अनिल सिंह द्वारा कोटा से बेटी को लाने के मामले ने विपक्ष को एक बना बनाया मुद्दा दे दिया है। बिहार विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने राज्य सरकार पर दोहरा मापदंड अपनाने का आरोप लगाते हुए सात सवाल पूछे हैं।तेजस्वी ने पूछा है कि क्या वापस लौटने पर बीजेपी एमएलए की कोरोना जांच की गई? उन्होंने कहा कि एमएलए को बिना बीमा वाली गाड़ी को नियमों का उल्लंघन करते हुए पास क्यों दिया गया? डेढ़ साल से बिना बीमा गाड़ी कैसे चल रही थी? कोटा जाने के लिए और कितने को अनुमति दी गई? क्या बीजेपी एमएलए के बॉडीगार्ड भी साथ गये थे? अगर हां तो क्या पुलिस हेडक्वार्टर ने इसकी अनुमति दी थी? अब तक कितने वीआइपी को पास दिये गये हैं? तेजस्वी ने कहा कि बीजेपी एमएलए के मुताबिक अब तक सात सौ लोगों को ऐसे विशेष पास दिये गये थे।अगर यह सूचना सही है तो सरकार को सबके नाम सार्वजनिक करने चाहिए।
प्राइवेट गाड़ी से गये थे कोटा: अनिल सिंह
एमएलए अनिल सिंह ने कोटा जाने में सरकारी गाड़ी के इस्तेमाल से इन्कार किया है। उन्होंने कहा कि प्राइवेट और सरकारी गाड़ियों का बनवाया था, लेकिन प्राइवेट गाड़ी से ही कोटा गये थे।

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com