Breaking Newsअन्यझारखण्डबोकारोराजनीतिराज्य

बोकारो:फिर से डबल इंजन की सरकार बनायें,नया झारखंड बनायें:सीएम रघुवर दास

  • जोहार जन आशीर्वाद यात्रा में सीएम रघुवर दास का चंदनकियारी, बोकारो व बेरमो में धुआंधार रोड शो व सभा
  • 2022 तक कोई बेघर नहीं रहेगा, सबका होगा अपना पक्का मकान
  • महाराष्ट्र व गुजरात से आगे निकलेगा झारखंड

बोकारो:सीएम रघुवर दास ने अपनी जोहार जन आशीर्वाद यात्रा में सोमवार को चंदनकियारी, बोकारो, चास व बेरमो में धुआंधार रोड शो, जन संवाद व सभा की. सीएम के कार्यक्रम में भारी भीड़ उमड़ी. सीएम ने लोगों से कहा कि वह अपने पांच साल के काम की मजदूरी मांगने आये हैं. जनता से आशीर्वाद मांगने आये हैं. लोकतंत्र का मालिक जनता को पांच साल के काम का रिपोर्ट सौंपने आया हूं.

सीएम का स्वागत करती रागिनी.

रांची से सीएम दिन के 11 बजे धनबाद जिले के मोहलबनी नगीना बाजार स्थित स्थित त्रिलोकीनाथ विद्यालय कैंपस में दिन के लगभग 11 बजे हेलीकॉप्टर से उतरे. एमपी पीएन सिंह, मिनिस्टर अमर बाउरी,एमएलए राज सिन्हा, जियाडा डायरेक्टर सत्येंद्र कुमार, जिला अध्यक्ष चंद्रशेखर सिंह, झरिया एमएलए की वाइफ रागिनी सिंह, बीजेपी लीडर संजय झा,धरणीधर मंडल, मानस प्रसून, स्वरूप भटटाचार्य, पिंटू अग्रवाल,बीजेयुमो जिला अध्यक्ष अमलेश सिंह,झरिया विधानसभा के मंडल अध्यक्ष उपेंद्र विश्कर्मा, उमेश यादव समेत अन्य ने स्वागत किया.

यहां से सीएम जोहार रथ से बिरसा पुल होते हुए चंदनकियारी रवाना हुए. बीजेपी कार्यकर्ता पीछे -पीछे मोटरसाइकिल जुलूस के में सीएम के काफिले के साथ चलते रहे. सीएम का जगह-जगह जोरदार स्वागत हुआ. सीएम ठाकुरडीह, मानपुर मोड़ में गाड़ी से उतर कर कमलदूत के साथ संवाद किया. लघला मोड़ पर सीएम का बीजेपी कार्यकर्ताओं वआम लोगों ने स्वागत किया. बोगुलामोड़, गलगलटांड समेत अन्य जगहों पर सीएम का स्वागत हुआ. सीएम अपनी रथ से हाथ हिलाकर लोगों का अभिवादन करते रहे. चंदनकियारी के बाई पास होते हुए सीएम का काफिला विवेकानंद अटल स्मृति पार्क पहुंचा. सीएम ने एक्स पीएम अटल बिहारी वाजपेयी की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर बाजार में रोड शो किया और लोगों से संवाद किया.लोगों ने सीएम पर पुष्प वर्षा कतर उनका स्वागत किया.


चंदनकियारी से सीएम का जोहार जन आशीर्वाद यात्रा बोकारो पहुंचे. दूंदीबाद में सीएम का जोरदार स्वागत किया गयाय यहां भी सीएम पर पुष्प वर्षा कराया गया. इसके बाद रितुडीह में जनसभा का आयोजन किया गया. सीएम ने ने जनसभा में कहा कि झारखंड में हर ओर विकास की बयार बह रही है. एक बार फिर से डबल इंजन की सरकार बनाने का काम जनता करेगी. पांच साल में 30 लाख घर में बिजली पहुंचाया गया है. पहले सिर्फ 34 ग्रिड थे. जबकि अब 60 ग्रिड बन रही है. 257 पावर स्टेशन बन रहा है. दिसंबर के पहले सप्ताह सभी काम करने लगेंगे. शहर के साथ-साथ गांव में भी 24 घंटा बिजली रहेगी.जिस तरह घर-घर में बिजली पहुंच गयी है, उसी तरह 2022 तक हर घर में पानी का कनेक्शन पहुंच जायेगा. इसी के तहत केंद्र सरकार में पहली बार जल शक्ति मंत्रालय बनाया गया.


देश का नंबर वन टाउन बनेगा बोकारो
सीएम ने कहा कि सरकार को विस्थापन विरासत के रूप में मिली. कोयला, स्टील समेत तमाम क्षेत्र में विस्थापन समस्या है, जल्द ही इसका समाधान निकाला जायेगा. माराफारी क्षेत्र को बहुत जल्द बीएसएल से अलग कर इंडस्ट्रीयल हब के रूप में विकसित किया जायेगा. दूंदीबाद के दुकानदारों को पक्का दुकान मिलेगा. बोकारो देश का एक नंबर शहर बनेगा. बोकारो में 1500 किमी से अधिक सड़क निर्माण व दर्जनों पुल-पुलिया बनाये गये हैं. हर क्षेत्र में विकास की नयी इबारत लिखी जा रही है. झारखंड देश का एकमात्र शहर है, जहां महिलाओं को एलपीजी कनेक्शन में मुफ्त चुल्हा के अलावा दो सिलेंडर भी मुफ्त में दिया जा रहा है. 40 लाख महिलाओं को गैस कनेक्शन मिला है. तीन लाख अन्य महिलाओं को कनेक्शन देना और है. कहा : किसानों को पांच से 25 हजार रुपये डीबीटी से मिल रहा है. 26 लाख किसानों को पहली किस्त दे दी गयी है. 23 अक्तूबर को गिरिडीह से किसानों को दूसरी किश्त भी दे दी जायेगी. सीएम ने मजदूरों को भावनात्मक तौर पर जोडऩे की कोशिश की. उन्होंने कहा कि वे खुद मजदूर रहे हैं और मजदूरों की पीड़ा समझते हैं. उन्होंने बोकारो इस्पात कारखाने से विस्थापित हुए लोगों के बेहतर पुनर्वास का भी भरोसा दिलाया. सीएम ने कहा कि वह किसी को भी उजडऩे नहीं देंगे। विस्थापन से पहले बसाना उनकी नीति है.
सीएम ने कहा कि 2022 में कोई बेघर नहीं रहेगा. सभी को अपना पक्का मकान होगा. नया भारत नया झारखंड बनेगा. उन्होंने कहा कि महिला के बिना प्रदेश का विकास नहीं हो सकता. भारतीय संस्कृति में महिला को सम्मानित स्थान दिया गया है. हमें भी देना होगा, तब ही समाज का पूर्ण विकास होगाएक नवंबर नवंबर से रेडी टू ईट का 500 करोड़ रुपये का टेंडर सखी मंडल को मिलेगा. इससे महिलाएं आर्थिक दृष्टि से उन्नत होगी.
सीसीएल द्वारा आयोजित कार्यक्रम में कई योजनाओं का शिलान्यास
सीएम ने करगली फुटबॉल मैदान में राज्य सरकार की 103 योजनाओं का शिलान्यास और 228 करोड़ की परिसंपत्तियों का वितरण भी किया.सीएम ने सीसीएल द्वारा आयोजित कार्यक्रम में कई योजनाओं का शिलान्यास किया. सीसीएल की सीएसआर मद की 145.14 करोड़ रुपये की लागत वाली 16 योजनाओं का शिलान्यास किया. इनमें तालाबों की खुदाई एवं सौंदर्यीकरण, कायाकाल्प खेल अकादमी, चेक डैम, बागवानी उत्पादन की आधारभूत संरचना एवं विस्तार, दूषित जल उपचार सयंत्र एवं सार्वजनिक शौचालय तथा कुड़ेदान निर्माण एवं विस्तार परियोजना, स्वास्थ्य संबंधी जागरुकता एवं स्वास्थ्य शिविर संबंधित परियोजना, रोड स्वीपिंग मशीन की खरीदारी, परिधिय गांवों में सौर ऊर्जा सहित स्ट्रीट लाइट परियोजना, परिधिय गांवों में स्थित स्कूलों की मरम्मत एवं सौंदर्यीकरण परियोजना, पर्यावरण अनुसंधान एवं सस्टेनबिलिटी संस्थान, जल संरक्षण प्राणाली निर्माण एवं विकास संबंधी परियोजना, परिधिय गांवों में पेयजल हेतू सौर ऊर्जा द्वारा संचालित मोटरपंप एवं बोरबेल परियोजना, परिधिय गांवों में किसानों को जल संरक्षण एवं सिंचाई हेतू प्रशिक्षण परियोजना, फुसरो बाइपास रोड परियोजना तथा पिछरी परियोजना शामिल हैं.

सीएम ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि बेरमो के लिए आज ऐतिहासिक दिन है. बेरमो की बंद पिछरी माइंस के खुलने से आसपास के लोगों को रोजगार मिलेगा. सीएसआरएस की 150 करोड़ की योजनाओं के धरातल पर उतरने से लोगों का कायाकल्प होगा. उन्होंने कहा कि हमारी सरकार बनने के बाद झारखंड में कई बंद माइंसों को खुलवाया तथा कोल बैरिंग एक्ट के तहत विस्थापितों को न्याय दिया. विस्थापन पूर्व की कांग्रेस सरकार की देन है. पूर्व के नेताओं व अधिकारियों ने सिर्फ लूटने का काम किया. हमारी सरकार विस्थापन के पहले पुनर्वास कर रही है. अब जमीन का मालिक विस्थापित होगा. हमने जमीन का पट्टा देने का काम शुरू किया है. राज्य में तेज गति से जमीनों का सत्यापन का काम शुरु किया. एक साल में 10 हजार एकड़ भूमि का सत्यापन किया गया, ग्रामीणों को नौकरी व मुआवजा मिला. धनबाद, बोकारो और बेरमो में आने वाले 15-20 वर्षों तक ही कोल माइनिंग होगी. भविष्य सौर ऊर्जा का है. इसलिए प्राकृतिक संसाधनों का तेज गति से दोहन करना होगा. 20 साल बाद कोयला को कोई नहीं पूछेगा. सीसीएल कोल माइनिंग के साथ-साथ विस्थापितों को नौकरी व मुआवजा देने की दिशा में बेहतर काम कर रहा है. बीसीसीएल विस्थापितों के साथ न्याय नहीं कर रहा है. कोयला मंत्री से 18 सितंबर को दौरे के क्रम में इसकी शिकायत की गयी है. झारखंड को पावर हब होना चाहिए था, लेकिन हम सिर्फ कोयला बेचने में रह गये. इस कलंक को धोने के लिए हमारी सरकार ने कई पावर प्लांटों का विस्तार किया.

सीसीएल सीएमडी गोपाल सिंह ने कहा कि पिछले वर्ष सीसीएल ने रिकार्ड 68 मिलियन टन कोयला का उत्पादन किया था. जल्द ही हम 100 मिलियन टन कोयला का उत्पादन करेंगे. जल्द ही मुख्यमंत्री के हाथों यहां डीआरएंडआरडी, चलकरी, अंगवाली माइंस को भी शुरू कराया जायेगा. सीएमडी ने कहा कि बेरमो में माफिया व दबंग किस्म के लोगों से डरने की जरूरत नहीं है. अब केंद्र में मोदी व राज्य में रघुवर की सरकार है. मजदूर भी अपने काम के लिए सीसीएल अधिकारियों व जेसीएसी तथा एसीसी सदस्यों से संपर्क करें. किसी चंगु-मंगू के फेरे में नहीं पड़े.कार्यक्रम में मिनिस्टर अमर कुमार बाउरी, रांची एमपी संजय सेठ, एक्स एमपी रवींद्र कुमार पांडेय, बेरमो एमएलए योगेश्वर महतो बाटूल, बोकारो एमएलए बिरंची नारायण समेत अन्य मौजूद थे.

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com