Breaking Newsझारखण्डधनबादराजनीतिराज्य

झारखंड विधानसभा बिल्डिंग में लगी भीषण आग, दमकल की 12 गाड़ियों ने आग पर काबू पाया

रांची:झारखंड विधानसभा की नई बिल्डिंग में बुधवार की शाम साढ़े सात बजे आग लग गई। आग विंग टू के फस्ट फ्लोर से होते हुए थर्ड फ्लोर तक फैल गई। आग से विपक्षी दल के सदस्यों की लॉबी जल गई है। लॉबी में रखे सोफा, टेबल, कुर्सी और एसी समेत कई अन्य सामान जलकर राख हो गये। सूचना मिलते ही दमकल की 12 गाड़ियां विधानसभा पहुंची और लगभग 10 बजे तकआग पर काबू पाया। विधानसभा सचिव महेंद्र प्रसाद, डीएसपी हरिश्चंद्र सिंह, धुर्वा पुलिस स्टेशन इंचार्ज राजीव कुमार समेत अन्य पुलिस अफसर मौके पर पहुंच छानबीन की। आग लगने का कारण स्पष्ट नहीं हो पा रहा है।
बैठक खत्म होते ही लगी आग
विधानसभा बिल्डिंग में बुधवार को आरके कंस्ट्रक्शन के अफसरों की बैठक थी। बैठक शाम सात बजे खत्म होने के बाद सभी लोग विधानसभा से निकल गये थे। विधानसभा में तैनात गार्डों ने शाम साढ़े सात बजे आरके कंस्ट्रक्शन के केयरटेकर सोनू को फोन पर आग लगने की सूचना दी। गार्ड और विधानसभा में मौजूद लोगों ने आग पर काबू पाने की कोशिश की लेकिन सफल नहीं हो पाये। आग ने विकराल रूप धारण कर लिया। फायर बिग्रेड को सूचना दी गयी। दमकल गाड़ियां मौक पर पहुंच आग पर काबू पाया।
आग लगने का अलग-अलग कारण
आरके कंस्ट्रक्शन के केयर टेकर सोनू का कहना है कि आग किसी शरारती तत्व के द्वारा साजिश के तहत लगाई गई है। फर्स्ट फ्लोर पर चार अलग अलग जगहों पर आग लगाई गई है। शार्ट सर्किट से आग लगती तो पूरा तार जल जाता। तार में आग नहीं लगी है। विधानसभा को पर्यटन स्थल बना दिया गया है। लोग आसानी से अंदर आते हैं और घूमने के बाद बाहर निकल जाते हैं।
डीएसपी हरिश्चंद्र सिंह का कहना है कि शुरुआती जांच में पता चला है कि आग शार्ट सर्किट होने की वजह से लगी है। शार्ट सर्किट होने के बाद सबसे पहले एसी में आग लगी। इसके बाद आग पूरी तरह से फैल गई। फायर बिग्रेड ने समय रहते आग पर काबू पा लिया नहीं तो बड़ी घटना हो सकती थी। विधानसभा में तैनात गार्ड और मजदूरों का कहना है कि फर्स्ट फ्लोर पर वेल्डिंग का काम चल रहा था। वेल्डिंग करते समय फर्स्ट फ्लोर पर आग लग गई। आग लगते ही काम करने वाले कुछ लोग शोर मचाते हुए नीचे दौड़कर आए और घटना की जानकारी दी। आग लगने की सूचना मिलने के बाद विधानसभा के सचिव महेंद्र प्रसाद मौके पर पहुंचे और उन्होंने मौजूद पदाधिकारियों से वस्तुस्थिति की जानकारी ली।
करोड़ों का नुकसान
विधानसभा भवन निर्माण करने वाली कंपनी आग लगने से करोड़ों का ही नुकसान हुआ है। प्रारंभिक तौर पर आग का कारण शार्ट सर्किट बताया जा रहा है। पीएम नरेंद्र मोदी ने 12 सितंबर, 2019 को विधानसभा भवन का उद्घाटन किया था। सदन का विशेष सत्र 13 सितंबर को चला था। झारखंड विधानसभा का भवन देश का बसे सुंदर व भव्य भवन है। इसकी पूरे देश में चर्चा थी। भवन में अभी इंटीरियर का कुछ काम भी चल रहा था और 10 दिसंबर को यह भवन विधानसभा सचिवालय को हैंडओवर होनेवाला था। यह विधानसभा भवन 6 लाख वर्ग फीट क्षेत्रफल में तैयार किया गया है। विधानसभा भवन को थ्री स्टार मिले हैं। भवन के निर्माण पर 366.57 करोड़ रुपये की लागत आई है। चार तल्लों के भवन में 400 से अधिक कारों के लिए कवर्ड पार्किंग की व्यवस्था है।
थ्री स्टार रेटेड ग्रीन बिल्डिंग है झारखंड विधानसभा
झारखंड विधानसभा के नये भवन का निर्माण ग्रीन स्टार बिल्डिंग की तरह किया गया है। इस तरह के भवनों को पांच स्टार तक मिलते हैं, जिसमें विधानसभा भवन को थ्री स्टार मिले हैं। भवन में कम ऊर्जा का इस्तेमाल, ऊर्जा संरक्षण के उपाय, जल संरक्षण के उपाय, वर्षा जल संरक्षण और ग्रीन लाइफस्टाइल के उपाय होने पर ग्रीन बिल्डिंग माना जाता है। जन स्वास्थ्य, लैंडस्केप डिजाइन आदि का भी ख्याल रखा गया है।

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com