Breaking Newsअन्यपटनाबिहारराजनीतिराज्य

बिहार:गर्वनर फागू चौहान व सीएम नीतीश कुमार ने बिहार केसरी को दी श्रद्धांजलि

डा. श्रीकृष्ण सिंह की जयंती पर बीजेपी व कांग्रेस ने एक दूसरे पर कसा तंज

पटना:बिहार के प्रथम मुख्यमंत्री बिहार केसरी डा. श्रीकृष्ण सिंह की जयंती के अवसर पर राज्यपाल फागू चौहान व सीएमनीतीश कुमार ने उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की. राजकीय जयंती समारोह का आयोजन पटना में मुख्य सचिवालय के प्रांगण में स्थित डा. श्रीकृष्ण सिंह की प्रतिमा स्थल के निकट आयोजित की गयी. मौके पर गर्वनर फागू चौहान व सीएम नीतीश कुमार ने बिहार केशरी की आदमकद प्रतिमा पर माल्यार्पण किया.
इस अवसर पर डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी, विधानसभा अध्यक्ष विजय कुमार चौधरी, उद्योग मंत्री श्याम रजक, श्रम संसाधन मंत्री विजय कुमार सिन्हा, एमएलए अरुण कुमार सिन्हा, एमएलसी संजय सिंह उर्फ गांधी जी, अरविंद कुमार सिंह उर्फ छोटू सिंह सहित अन्य सामाजिक एवं राजनीतिक कार्यकर्ताओं ने भी बिहार केसरी की आदमकद प्रतिमा पर पुष्पांजलि कर उन्हें नमन कर श्रद्धांजलि अर्पित की. सूचना एवं जन–संपर्क विभाग के कलाकारों द्वारा आरती पूजन, भजन, कीर्तन एवं देशभक्ति गीत का कार्यक्रम प्रस्तुत किया गया.
मौजूदा कांग्रेस श्रीबाबू की नहीं, लालू की पालकी ढोने वाली कांग्रेस: सुशील मोदी

श्रीकृष्ण मेमोरियल हॉल में श्रीबाबू की जयंती समारोह
पटना:डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी ने कहा है कि आज की कांग्रेस बिहार के प्रथम सीएम डॉ श्रीकृष्ण सिंह की नहीं, लालू यादव की है. श्रीबाबू ने बिहार में जो कल-कारखाना खोले, लालू-राबड़ी सरकार में शामिल होकर राजद की पालकी ढोने वाली कांग्रेस ने उसे बंद किया. अब पीएम नरेन्द्र मोदी फिर से उन बंद कारखानों को चालू करने में जुटे हैं. एनडीए सरकार ही श्रीबाबू का सपना साकार करेगी. डिप्टी सीएम सोमवार को श्रीकृष्ण मेमोरियल हॉल में श्रीबाबू की जयंती समारोह को संबोधित कर रहे थे.
डिप्टी सीएम ने कहा कि एक भी कांग्रेसी राजकीय समारोह में श्रीबाबू को माल्यार्पण करने सचिवालय परिसर नहीं पहुंचे. 16 साल के शासनकाल में श्रीबाबू ने बिहार को जिस मुकाम पर पहुंचाया, उनके बाद 45 वर्षों 2005 तक एक भी काम नहीं हुआ. अगर काम होता तो गुजरात और महाराष्ट्र से अधिक विकसित राज्य बिहार होता. एनडीए सरकार श्रीबाबू के सपनों को पूरा करने में लगी है. उनके द्वारा किए गए कामों की लकीर को छूने का प्रयास कर रही है। सात हजार करोड़ से बरौनी खाद कारखाना को चालू किया जा रहा है और जून 21 से यहां से उत्पादन शुरू हो जायेगा.

मोदी ने कांग्रेस के राज्यसभा मेंबर डॉ अखिलेश सिंह का नाम लिए बगैर कहा कि मिलर हाईस्कूल में श्रीबाबू की जयंती मनाने वाले कांग्रेसी बताएं कि क्या पाकिस्तान ने भारत से पूछकर हमला किया था. मोदी सरकार ने पाकिस्तान को जवाब दिया तो उसे महाराष्ट्र और हरियाणा चुनाव से जोड़ दिया गया. देश में हर दो-चार महीने में चुनाव होते रहते हैं तो क्या पाकिस्तान को जवाब नहीं दिया जाए. कांग्रेस में कैसे बेशर्म लोग हैं जो आर्टिकल 370 का विरोध करते हैं, सर्जिकल स्ट्राइक का सबूत मांगते हैं. बिहार केशरी को भारत रत्न दिये जाने की मांग पर मोदी ने कहा कि कांग्रेस ने अब तक क्यों नहीं उन्हें यह सम्मान दिया.श्रीबाबू के लिए भारत रत्न छोटी बात है. हम उनके सपनों का विकसित बिहार बना दें, उनके लिए वही सच्ची श्रद्धांजलि होगी.
बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष डॉ संजय जायसवाल ने श्रीबाबू को आधुनिक बिहार का निर्माता बताते हुए पीएम मोदी से तुलना की. जयसवाल ने कहा कि दोनों के लिए औद्योगिकीकरण प्राथमिकता में है. श्रीबाबू ने मंदिर में दलितों को प्रवेश कराया तो पीएम ने गरीब सवर्णों को 10 फीसदी आरक्षण दिया.
केंद्रीय गृह राज्यमंत्री नित्यानंद राय ने कहा कि श्रीबाबू चाहते थे कि सरदार पटेल देश के पीएम बनें. अगर वे आज जीवित होते तो देश के सभी राज्यों में एनआरसी लागू करवाने का समर्थन करते. श्री बाबू के बाद वाले कांग्रेसियों ने बिहार में हुए तमाम कामों को ध्वस्त कर दिया. पीएम मोदी श्रीबाबू के सपनों का देश बना रहे हैं. पाकिस्तानी सेना कहें या आतंकवादी, उसका मुंहतोड़ जवाब दिया जा रहा है, कार्यक्रम के आयोजनकर्ता एक्स मिनिस्टर डॉ महाचंद्र प्रसाद सिंह ने अपने अध्यक्षीय भाषण में श्रीबाबू को भारत रत्न देने, उनकी जीवनी को स्कूली पाठ्यक्रम में शामिल करने, उनके नाम पर शैक्षणिक शोध संस्थान खोलने की मांग की.
कांग्रेस ने की बिहार डा. श्रीकृष्ण सिंह को “भारत रत्न” दिये जाने की मांग की


बीजेपी पहले देश से माफी मांगे तब श्रीबाबू की जयंती मनाये
पटना:बिहार कांग्रेस ने प्रथम मुख्यमंत्री श्रीकृष्ण सिंह के 132वीं जयंती समारोह के मौके पर उन्हें “भारत रत्न” दिए जाने की मांग की है. कांग्रेस की ओर से मिल्लर हाइ स्कूल में आयोजित बिहार केशरी के जयंती समारोह में पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष डा. मदन मोहन झा ने श्री बाबू को भारत रत्न दिये जाने का प्रस्ताव रखा जिसे उपस्थित जनसमूह ने समर्थन दिया. मौके पर पार्टी नेताओं ने श्री बाबू व अनुग्रह बाबू सहित पार्टी के अन्य नेताओं के मूल्यों और विरासत को लेकर गांव-गांव तक जाने का संकल्प लिया. आनेवाले समय की चुनौतियां से निबटने के लिए पार्टी के हर कार्यकर्ता को तैयार रहना होगा.


समारोह को संबोधित करते हुए प्रदेश के प्रभारी सचिव वीरेंद्र सिंह राठौर ने कहा कि जिस समय लोग गुड गवर्नेंस की परिभाषा नहीं जानते थे, उस समय श्री बाबू ने राज्य में इसे लागू किया था. उनके कार्यकाल में बरौनी रिफाइनरी, बोकारो स्टील, हेवी इलेक्ट्रिकल्स व दामोदर वैली कॉरपोरेशन जैसे उद्योगों की स्थापना की गयी. उन्होंने कहा कि भाजपा को माफी मांगे बिना श्री बाबू की जयंती मनाने का हक नहीं है. जिस दौर में श्रीबाबू आजादी के आंदोलन में संघर्ष कर रहे थे, तब जनसंघ के लोग अंग्रेजों से हाथ मिलाकर आंदोलन को कमजोर करने में जुटे थे.कहा कि भाजपा पहले देश से माफी मांगे, तब जयंती मनाए.उन्होंने कहा कि नये बिहार की नींव रखने को गांव-गांव जाना और सड़कों पर उतरना होगा.
प्रदेश अध्यक्ष डा. मदन मोहन झा ने कहा कि श्री बाबू का योगदान देश की आजादी की लड़ाई के सभी आंदोलनों में रहा है. वह अपने समय के विरोधियों से भी चुनाव के बाद प्रेम का भाव रखते थे. उन्होंने कहा कि अन्याय करना ही नहीं, अन्याय सहना भी जुर्म है. आज देश और प्रदेश में अन्यायकारी शक्तियों के खिलाफ उठ खड़े होने का वक्त है.श्री बाबू ने यही शिक्षा दी थी. कांग्रेस की मजबूती के लिए गांवों की ओर चलने का आह्वान करते हुए कहा कि पार्टी केंद्र और प्रदेश सरकार के खिलाफ आंदोलन छेड़ेगी.देश और बिहार को आगे बढ़ाने के लिए कांग्रेस के विचार को आगे ले जाने की जरूरत है.
कांग्रेस विधानमंडल दल के नेता सदानंद सिंह ने कहा कि श्री बाबू की प्रशासनिक क्षमता अद्वितीय थी.उन्होंने बिहार विधानसभा में जमींदारी उन्मूलन का बिल लाया था. उन्होंने कहा कि नब्बे के बाद से बिहार में कांग्रेस नीचे की ओर जा रही है. फिर गांवों की जाना होगा। कहा कि गांधी के रास्ते पर ही देश को आगे ले जाया जा सकता है. राष्ट्रीय सचिव डॉ. शकील अहमद खान ने कहा कि आज दलितों-अल्पसंख्यकों को निशाना बनाया जा रहा है. कांग्रेस को गांव-गांव जाना होगा.
बिहार कांग्रेस चुनाव अभियान समिति के अध्यक्ष और राज्यसभा सदस्य अखिलेश प्रसाद सिंह ने कहा कि दिन की बारिश में पटना डूब गया.धरना देने वालों को खुद घर से रेस्क्यू करना पड़ा.श्री बाबू के बाढ़ नियंत्रण के मॉडल को दुनिया ने सराहा था. उनसे तुलना सब करते हैं पर उनके जैसा कोई दूसरा नहीं हो सकता. कहा कि जाड़े में संविधान बचाने, दलित-अल्पसंख्यकों पर बढ़ते अत्याचार के खिलाफ समान विचार वाले दलों संग बिहार में आंदोलन किया जायेगा.पार्टी छठ के बाद दो-तीन महीने तक राज्य में महागठबंधन दलों के साथ राजनीतिक अलख जगाने का काम करेगी. उन्होंने कहा कि दलितों, अल्पसंख्यकों के सवाल पर पार्टी जनता के बीच जायेगी. समारोह में श्री बाबू को भारत रत्न देने का प्रस्ताव कांग्रेस नेता अजय कुमार टुन्ना ने रखा। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष डॉ. मदन मोहन झा के आह्वान पर सभी ने हाथ उठाकर मांग का समर्थन किया.
समारोह में एक्स मिनिस्टर कृपानाथ पाठक, डॉ. ज्योति, विश्वमोहन शर्मा, नरेंद्र सिंह, एमएलए विनय वर्मा, एक्स एमएलए लाल बाबू लाल, चंद्रप्रकाश, युवा कांग्रेस अध्यक्ष गुंजन पटेल, मनटन सिंह, राजकुमार राजन, राजेश राठौर आदि मौजूद रहे. संचालन प्रभात सिंह ने किया.

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com