Breaking Newsअन्यदिल्लीदेश

नई दिल्ली:डोमोस्टिक एयर सर्विस 25 मई से, रूट्स सात सेक्शन में बंटा,मिनिमम फेयर 2000 और मैक्सिमम 18,600 रुपये

  • 40 परसेंट सीटें औसत फेयर से कम पर बुक की जायेंगी

नई दिल्ली।सिविल एविएशन मिनिस्ट्री ने 25 मई से डोमेस्टिक एयर सर्विस शुरू करने जा रही है। फिलहाल ट्रैवल टाइम के आधार पर रूट को सात सेक्शन में बांटा गया है।हर सेक्शन के लिए मिनिमम और मैक्सिमम किराया फिक्स किया गया है। प्लेन का किराया 2,000 रुपये से 18,600 रुपये के बीच होगा। सिविल एविएशन मिनिस्टर हरदीप सिंह पुरी ने प्रेस कांफ्रेस में यह जानकारी दी। प्लेन की 40 परसेंट सीटें फेयर बैंड के औसत से कम पर बुक की जायेंगी।इस दौरान कई तरह के नियम और शर्तें लागू होंगी, जिनका पालन करना होगा।
यह भी पढ़ें:झारखंड: 22 मई को पांच जिले में 22 कोरोना पेसेंट मिले, स्टेट में संक्रमितों की संख्या 330 हुई
मेट्रो टू मेट्रो व मेट्रो टू नॉन मेट्रो शहर के लिए अलग-अलग नियम
मिनिस्टर हरदीप पुरी ने बताया कि डोमोस्टिक एयर सर्विस की 25 मई से मेट्रो से मेट्रो सिटी के लिए एक तिहाई उड़ानों को इजाजत मिली है। एक तिहाई उड़ानों को विमानन कंपनियां चला सकती हैं।मेट्रो टू मेट्रो शहरों में कुछ नियम होंगे, मेट्रो टू नॉन मेट्रो शहर के लिए अलग नियम होंगे। मेट्रो शहरों में दिल्ली, मुंबई, कोलकाता, चेन्नई जैसे शहर शामिल होंगे। शुरुआती तौर पर एयरपोर्ट का एक तिहाई हिस्सा ही शुरू होगा, किसी भी फ्लाइट में खाना नहीं दिया जायेगा।
यह भी पढ़ें:धनबाद:पुलिस इंस्पेक्टर सुभाष सिंह निरसा पुलिस स्टेशन इंचार्ज बने, आठ इंस्पेक्टरों का ट्रांसफर
फ्लाइट रूट्स 7 सेक्शन में बांटे गये हैं। सेक्शन 1: फ्लाइट का समय 40 मिनट से कम है। सेक्शन दो में 40 मिनट से ज्यादा और 60 मिनट तक। सेक्शन तीन में 60-90 मिनट तक,सेक्शन चार में 90 से 120 मिनट तक, सेक्शन पांच में दो घंटे से 2.30 घंटे तक,सेक्शन छह में ढाई से तीन घंटे तक, सेक्शन सात में तीन घंटे से साढ़े तीन घंटे तक का सफर होगा।
यह भी पढ़ें:धनबाद:सीआइडी एसआइटी ने निरसा गांज तस्करी के फरजी केस की जांच शुरु की,एसडीपीओ से पूछताछ
डोमेस्टिक फ्लाइट का किराया
सेंट्रल मिनिस्टर हरदीप पुरी ने बताया कि एयर सर्विस सबके लिए हो इसके लिए किराया भी रिजनेबल रख गया है। उड़ानों के लिए हमने वास्तविक किराया फिक्स किया है। ताकि किसी को मुश्किल का सामना नहीं करना पड़े। सरकार की तरफ से अगस्त तक टिकट के कुछ दाम तय कर दिए गए हैं।दाहरण के तौर पर दिल्ली से मुंबई फ्लाइट के लिए कम से कम 3500 रुपये-अधिकतम 10 हजार रुपये तय किया गया है। इसी के तहत कंपनियों को दाम तय करने होंगे। सभी कंपनियों को करीब चालीस परसेंट सीटें मैक्सिसम व मिनिमम दाम के बीच के दाम पर देनी होंगी। दाम का ये सिस्टम अगस्त तक जारी रहेगा।
यह भी पढ़ें:धनबाद:एमएलए राज सिन्हा का फर्जी पीए बनकर वसूली, सरायढेला पुलिस स्टेशन में एफआइआर
मिडिल सीट खाली नहीं रखी जायेगी
उड़ान के दौरान बीच की सीट खाली नहीं रखी जायेगी। हर उड़ान के बाद फ्लाइट की डिसइन्फेक्ट किया जाता है। पैसेंजर्स और क्रू के लिए हर सावधानी बरती जाती है। अगर मिडिल सीट खाली छोड़ दें तो इसका भार यात्रियों पर जायेगा।
गाइडलाइन्स
पैसेंजर को फ्लाइट के वक्त से दो घंटे पहले एयरपोर्ट पहुंचना होगा।

हर किसी को आरोग्य सेतु ऐप रखना जरूरी होगा।

जिनकी फ्लाइट को चार घंटे हैं, उन्हें ही एयरपोर्ट पर एंट्री मिलेगी।

पैसेंजर्स को मास्क, ग्लव्स पहनना जरूरी. सोशल डिस्टेंसिंग का पालन भी जरूरी।

एयरपोर्ट, विमान के कर्मचारियों को पीपीई किट पहनना होगा।

फ्लाइट के अंदर भी कई तरह की सतर्कता बरती जायेगी।
40 मिनट से कम समय लेने वाले रूट्स क्लास A सेक्टर में आयेंगे। इसका मिनिमम किराया 2000 और मैक्सिमम किराया 6000 रुपये होंगे।40 से 60 मिनट का समय लेने वाले रूट्स क्लास B सेक्टर में आयेंगे। इसका मिनिमम किराया 2500 और मैक्सिमम किराया 7500 रुपये होंगे।60-90 मिनट का समय लेने वाले रूट्स क्लास C सेक्टर में आयेंगे। इसका मिनिमम किराया 3000 और मैक्सिमम किराया 9000 रुपये होंगे।90 से 120 मिनट का समय लेने वाले रूट्स क्लास D सेक्टर में आएंगे और इसका मिनिमम किराया 3500 और मैक्सिमम किराया 10000 रुपये होंगे। दो से 2.50 घंटे का समय लेने वाले रूट्स क्लास E सेक्टर में आयेंगे।इसका मिनिमम किराया 4500 और मैक्सिमम किराया 13000 रुपये होंगे।2.50 से 3 घंटे का समय लेने वाले रूट्स क्लास F सेक्टर में आयेंगे। इसका मिनिमम किराया 5500 और मैक्सिमम किराया 15700 रुपये होंगे।तीन से 3.5 घंटे का समय लेने वाले रूट्स क्लास G सेक्टर में आएंगे और इसका मिनिमम किराया 6500 और मैक्सिमम किराया 18600 रुपये होंगे।

Comment here

+ 51 = 56

WordPress Anti-Spam by WP-SpamShield

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com