Breaking Newsगिरिडीहजमुईझारखण्डधनबादबिहारराज्यस्वास्थ्य

धनबाद से पैदल जमुई जा रही महिला का गिरिडीह में रोड पर डिलीवरी, बच्चे की मौत

  • समय पर नहीं मिल पाया इलाज
  • आठ माह की प्रेगनेंट महिला मां के साथ जा रही गांव

धनबाद। कोरोना वायरस लॉकडाउन में रोजी-रोटी संकट से परेशान प्रवासी महिला के साथ शुक्रवार को दुखद घटना घटी। धनबाद से पैदल ही बिहार के जमुई जा रही प्रवासी महिला का बीच रोड पर डिलीवरी हो गया। इलाज के अभाव में जन्म के बाद नवजात की मौत हो गयी।

यह भी पढ़ें:मुंबई सेLockdown में बेटे ने किया Tweet, UP Police ने 55 किलोमीटर जाकर मां को पहुंचाई दवा
समय पर इलाज मिलता तो बच जाती नवजात की जान
धनबाद में काम करने वाले मजदूरों का एक जत्था शुक्रवार को पैदल ही बिहार के जमुई जा रहा था। गिरिडीह पहुंचने पर पुलिस ने जत्थे में शामिल महिलाओं को ऑटो पर बिठाकर आगे भेज दिया।ऑटो ड्राइवर ने बेंगाबाद के धूतिटांड टोल प्लॉजा के समीप सभी को उतार दिया। 26 वर्षीय कविता देवी प्रेगेनेंट थी। उसे पेन शुरू हो गयी। महिला का रोड पर ही डिलीवरी हो गया। महिला ने बेटे को जन्म दिया। महिला को मौके पर किसी की का इलाज नहीं मिल सका। जच्चा-बच्चा की दोनों की तबीयत खराब हो गई। बच्चे की मौके पर ही मौत हो गई। कुछ देर बाद एक एंबुलेंस पहुंचा। एंबुलेंस ड्राइवर ने महिला और उसकी साथी महिलाओं को बेंगाबाद सामुदायिक अस्पताल पहुंचाया।यहां इलाज के बाद महिला की जान बच गई।
यह भी पढ़ें:झारखंड में एक रुपये में महिलाओं के नाम जमीन रजिस्ट्री की योजना बंद,मकान, अब रजिस्ट्री होगी शुरू,
महिला पति छूट गया था पीछे
प्रेगनेंट महिला के साथ उसकी मां सीता देवी भी जमुई जा रही थीं। महिला ने कहा कि उसकी बेटी आठ माह की प्रेगनेंट थी।धनबाद से चलने से पहले ही बेटी की तबीयत ठीक नहीं थी।वहीं जांच कराई गई। धनबाद से सभी लोग जत्थे के साथ पैदल ही अपने गांव जमुई के लिए निकल पड़े।घटना के समय महिला का पति दीपक मांझी और उसके अन्य साथ पीछे छूट गये थे।घटना की जानकारी मिलने के बाद एमएलए डॉ. सरफराज अहमद ने गिरिडीह के अफसरों को फोन कर जानकारी दी। प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग के अफसर हरकत में आये।
यह भी पढ़ें:झारखंड:धनबाद एसएसपी अखिलेश बी वरियार दो वर्ष के एजुकेशन लीव पर जायेंगे
एसडीएम ने महिला और उसके सहयोगियों को एंबुलेंस से जमुई भिजवाया
सूचना मिलने के बाद एसडीएम प्रेरणा दीक्षित मौके पर पहुंची। एसडीएम ने सभी मजदूरों के खाने-पीने का इंतजाम करवाया। महिला के साथ ही एक अन्य प्रेगनेंट महिला और उसकी साथी महिलाओं को एंबुलेंस से जमुई रवाना किया गया। नवजात बच्चे की मौत से आहत बेसुध पड़ी थी। उसे बेहोशी की हाल में ही उसे एंबुलेंस से जमुई रवाना किया गया।

Comment here

50 + = 60

WordPress Anti-Spam by WP-SpamShield

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com