Breaking Newsअपराधझारखण्डटॉप खबरधनबादबोकारोराज्य

धनबाद:बोकारो पुलिस ने शशिकांत मर्डर केस के आरोपी को 10 वर्ष बाद बेंगलुरु से अरेस्ट किया,जेल भेजे गये

शूटरों का नहीं मिला सुराग

धनबाद:बोकारो पुलिस ने धनबाद के जोड़ापोखर पुलिस स्टेशन एरिया के जामाडोबा निवासी कंट्रेक्टर शशिकांत सिंह मर्डर केस आरोपित रांची लालपुर निवासी शराब कारोबारी कृष्णा जायसवाल को अरेस्ट कर ली है। हरला पुलिस स्टेशन की पुलिस ने कृष्णा को बेंगलुरु से गिरफ्तार किया है। कोर्ट में पेशी के बाद पुलिस बुधवार की उसे ज्यूडिशियल कस्टडी में चास जेल भेज दी है। पुलिस ने शशिकांत की मर्डर के 10 साल बाद आरोपी कृष्णा जायसवाल को दबोचने में सफलता पायी है। पुलिस अभी तक घटना को अंजाम देने वाले शुटरों को नहीं खोज सकी है।
वर्ष 2010 की घटना 13 अगस्त को बोकारो हरला पुलिस स्टेशन एरिया के रेलवे फाटक के समीप शशिकांत की मर्डरकर दी गयी थी। शशि कार से अपने ड्राइवर के साथ ची जा रहे थे। दो बाइक सवार चार ने रेलवे फाटक के पास शशि को निशाना बनाकर फायरिंग की। गोली लगने से शशिकांत गंभीर रुप से घायल हो गये। ड्राइवर ने घायल शशि को के लिए बीजीएच पहुंचाया। बीजीएच में 16 अगस्त को इलाज के दौरान शशिकांत की मौत हो गई थी।
पैसे का लेन-देन बना मर्डर के कारण
शशिकांत के पिता राम वृक्ष सिंह की कंपलेन पर हरला पुलिस 14 अगस्त को कृष्णा जायसवाल के खिलाफ एफआइआर दर्ज कर ली थी। पुलिस इस मामले में शिथिल बनी रही। शशि के परिजन पुलिस की सुस्ती के खिलाफ हाईकोर्ट का भी दरवाजा खटखटाया। बताया जाता है कि शशिकांत ने कृष्णा को साठ लाख रुपये दिये थे। कृष्णा ने पैसा लौटाने से बचने के लिए शशिकांत के मर्डर की साजिश रची। और घटना को अंजाम दिया।
दसवें आइओ ने चार्ज लेते ही तेज किया गिरफ्तारी के लिए प्रयास
शशि की मर्डर के बाद पुलिस ने 2012 में आरोपी कृष्णा के लालपुर के पते पर कुर्की जब्ती की। गिरफ्तारी नहीं होने पर इसे फरार दिखाते हुए अदालत में पुलिस ने आरोप पत्र समर्पित कर दिया। सूचना मिली कि हत्यारोपी बेंगलुरु में छिपा है। वहां पुलिस पहुंची इसके बाद इस मामले में पुलिस शांत पड़ गयी। अब तक केस के नौ आइओ बदल चुके हैं। परजेंट पुलिस स्टेशन इंचार्ज जय गोविंद प्रसाद गुप्ता इस मामले का आइओ बनते ही एक्शन में तेजी लायी।

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com