Breaking Newsअपराधधनबाद

धनबाद:इकतरफा प्यार में नाबालिग छात्रा मर्डर करने वाला ट्यूटर को आजीवन कारावास

  • कोर्ट ने अपने फैसले में कहा हत्यारे को अंतिम सांस तक जेल में रहना पड़ेगा

धनबाद।बैंक मोड़ पुलिस स्टेशन एरिया के मटकुरिया घूरनी जोरिया में हुई 11वीं की छात्रा की हत्या के मामले में सनकी ट्यूटर (आशिक) सुलेख कुमार को उम्र कैद की सजा सुनाई गयी है। जिला एवं सत्र न्यायधीश राजीव कुमार सिन्हा की कोर्ट ने आरोपी पर 20 हजार रुपये का जुर्माना भी लगाया है। कोर्ट ने अपने फैसले में कहा हत्यारे को अंतिम सांस तक जेल में रहना पड़ेगा ताकि अपने किए पर छतावा हो।
कोर्ट ने आरोपी को 22 फरवरी को आरोपित को दोषी करार दिया था। सजा की बिंदु पर सुनवाई के लिए 25 फरवरी की तिथि निर्धारित की गई थी। लोक अभियोजक बीडी पाण्डेय ने विरल से विरलतम प्रकृति का अपराध मानते हुए फांसी की सजा की मांग की थी। हालांकि कोर्ट ने इसे विरल से विरलतम प्रकृति का अपराध नहीं माना और फांसी की जगह आजीवन कारावास की सजा सुनाई।
क्या है मामला
सुलेख नामक ट्यूटर नाबालिग छात्रा से एकतरफा प्यार करता था।बार-बार कहने के बावजूद भी छात्रा आरोपी सुलेश की बात मानने को तैयार नहीं थी। लिहाजा वह विरह की आग में जलने लगा और उसे न प्राप्त कर पाने के कारण वह हर हद तक जाने को तैयार हो गया। सुलेख ने यह ठान लिया था कि जब वह मेरी नहीं हुई तो वह किसी और की भी नहीं होगी। सुलेख ने गूगल पर सर्च किया तो उसे जानकारी मिली कि हाथ पैर की नस काटने से फौरन मौत हो जाती है। सुलेख ने पुलिस को बताया था कि वह खर्चा चलाने के लिए मटकुरिया में ट्यूशन पढ़ाता था। वह नाबालिग छात्रा को भी ट्यूशन पढ़ाता था। ट्यूशन पढ़ाने के दौरान वह उसे अच्छी लगने लगी। जब वह किसी से बात करती तो उसे अच्छा नहीं लगता। मैं चाहता था कि वह किसी से भी बात नहीं करें। एक दिन मौका देखकर उससे प्यार का इजहार कर दिया था। छात्रा ने इसकी कंपलेन अपने पिता से कर दी थी। छात्रा के पिता ने उसे काफी डांट-फटकार कर भगा दिया था। मैं इस वाकए को भूल नहीं पा रहा था। मैं हर दिन उसके स्कूल जाने वाले रास्ते पर उसका इंतजार करता था लेकिन वह मुझे भाव नहीं देती थी।
रात के अंधेरे में करकट हटा घर में घुसा
सुलेख ने पुलिस को बताया था कि वर्ष 2017 की 29 अगस्त को अंधेरा होने के बाद उसके घर के पीछे रेलवे लाइन के पास बैठ गया। जब देर रात हुई तो पीछे आंगन की तरफ से घर की छत पर चढ़ने लगा। करकट हटाकर अंदर घुसा। छात्रा के माता-पिता के कमरे में ताला लगा दिया। छात्रा के कमरे में घुसकर उसके हथेली पर भुजाली से वार किया। वह जग गई और चिखने लगी। बगल में सो रहा उसका भाई भी चिल्लाने लगा जिसे भुजाली मार घायल कर दिया। मृतका मदद के लिए अपने माता-पिता के कमरे की तरफ बढ़ी तो उसके ऊपर ताबड़तोड़ हमला कर दिया और वहां से भाग गया। छात्रा के पिता की कंपलेन पर सुलेख के खिलाफ बैंक मोड़ पुलिस स्टेशन में एफआइआर दर्ज की गई थी। पुलिस ने 27 नवंबर 17 को इस मामले में चार्जशीट दायर किया था। 21 मार्च 18 को आरोप तय होने के बाद सुनवाई शुरू हुई थी।

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com